क्या आपकी तोंद फटने वाली है?

जानिए एक अनोखी गोली के बारे में ,जिसके इस्तेमाल से हजारों लोग प्रत्येक दिन 1 kg तक वजन घटा रहे है। इसके परिणाम काफी आश्चर्यचकित करने वाले निकले और हमने इसकी तहकीकात करनी सुरु कि, की कौन है इस सब के पीछे। हमारे टीम के कई लोगों ने 24 किलो तक वजन घटाए।

मैंने ये पता लगाने की कोशिस की के वो कौन है जिसने इस चीज का अविष्कार किया जो इतना कारगर साबित हो रहा है। और कैसे उसने ये उत्पाद बनाया।

नमस्ते दोस्तों, मेरा नाम है शिल्पा शूरी । मैं 29 साल की हूँ कुछ दिन पहले मुझे इस महान वैज्ञानिक का इंटरव्यू लेने का मौका मिला।

बहुचर्चित बायो मेडिसिन डॉक्टर श्री सिद्धांत कॉल को इस औसधि के अविष्कार का श्रेय जाता है और साथ हीं साथ वेट लॉस इंडस्ट्री के सबसे बढे झूठ का पर्दा फाश करने का श्रेय भी उन्हें हीं जाता है। नयी दिल्ली के एक रिसर्च संस्था में काम करते हुए डॉक्टर कॉल ने अचानक इस विधि का खोज कर दिया जिसे दवा कंपनियां किसी भी तरह प्रतिबंधित करवाने में लगी हैं ताकि ये आम इंसान के हाथ न लगे और उनका व्यापार बंद न हो। इसके पहले की ये तरीका कोर्ट कचहरी के दरवाजे पर घसीटा जाये, आइए जानें कैसे प्राकृतिक तरीके से बिना व्यायाम, खाने में तफदिली और दर्दनाक सर्जरी के बिना वजन कैसे घटाया जा सकता है।

जानिए एक महान खोज की कहानी उसी के अविष्कारक की जुबानि।

Dr. Siddhant Kaul

यह एक आम दिन जैसा था जब मेरी जिंदगी पूरी तरह से बदल गयी। मैं नयी दिल्ली टीचिंग हॉस्पिटल में बायो इंजीनियरिंग की क्लास ले रहा था तभी अचानक मेरी माँ का फोन आया। मेरी माँ को पता होता है की मैं क्लास ले रहा होता हूँ इसलिए वो कभी ऐसे कॉल नहीं करती जबतक कोई जरुरी बात ना हो, उनका नाम फ़ोन पर देख कर में डर सा गया और संकोच के साथ फ़ोन उठाया। अगले पल मेरी माँ ने जो कहा उसने मुझे तोड़ कर रख दिया। मेरा छोटा भाई कपिल जो सिर्फ 27 साल का था उसे एक मेजर हार्ट अटैक आया था और वो लोग उसी हॉस्पिटल के तरफ आ रहे थे जिसमे मैं काम करता था। मैंने क्लास छोड़ा और निचे भागा, भावनाओं का जैसे बाढ़ आ चुका था। क्या मेरा भाई ठीक हो पायेगा ? कितना भारी अटैक है ? क्या उसे सर्जरी की जरुरत पड़ेगी? मुझे ये तो पता था की मैं अपने सगे भाई की सर्जरी नहीं कर सकता था। मैं ऐसे सर्जरी के लिए बहुत भावुक था। मन हीं मन मैं ये तय करने लग गया था की मेरे सहकर्मी में से कौन सबसे अच्छा सर्जरी कर पायेगा, मगर आगे जो हुआ वो मेरे कल्पना से भी ज्यादा बुरा और दर्दनाक था। जैसे हीं सबने कपिल को इमरजेंसी रूम में लाया और मैंने कपिल को स्ट्रेचर पर देखा वैसे हीं मैं सिथिल पड़ गया। वो सांस नहीं ले रहा था। हड़बड़ी में हम उसे प्राइवेट रूम में ले गए और अगले 10 मिनट तक मैंने उसे रिवाइव करने की भरपूर कोशिस की , ये 10 मेरी जिंदगी का सबसे लम्बे 10 मिनट थे। मैं अपने आप को तबतक नहीं रोक पा रहा था जबतक नर्स ने ये ना कह दिया की सब ख़तम हो गया। ” मैं पूरी तरह से टूट गया ऐसा लग रहा था मेरी जिंदगी किसी काम की नहीं रही मेरा भाई सिर्फ 27 साल की उम्र में हमे छोड़कर चला गया मैं उसके लिए कुछ नहीं कर पाया।

मेरी पूरी जिंदगी मेरे आँखों के सामने बिखर सी गयी। मेरी साड़ी पढाई का कोई औचित्य नहीं रह गया। अगर मैं अपने भाई को नहीं बचा पाया, ऐसे डॉक्टर होने का क्या फायदा ? मेरी माँ सदमे से पागल हो गयी, उनको अगले कई महीनो तक ये यकीन नहीं था की उनका छोटा बेटा कपिल अब इस दुनिया में नहीं रहा। सच तो यह है की उन्होंने मुझसे बात तक करने से इंकार कर दिया क्यूंकि उन्हें लगता है की मैं कपिल को बचा सकता था।

ये तो सही है की मेरे भाई की मौत एक बहुत बड़ा सदमा था मगर ये कोई रहस्य भी नही। कपिल की मौत का सबसे बड़ा कारन उसका मोटापा था। उसकी धमनियाँ (artery) भरी हुई थी और उसे बचाने के लिए एक साधारण स्टेंट काफी था। शुरुआत में मुझे यह यकीन था की सिर्फ 8 मिनट से उसकी जिंदगी बचायी जा सकती थी, सायद वह 8 मिनट पहले पहुँच जाता तो उसकी जान बचायी जा सकती थ। मगर सच पूछे तो वो वर्षो लेट हो चूका था। अगर कपिल ने अपने मोटापे को सीरियसली लिया होता। मैं इसलिए बोल सकता हूँ क्यूंकि मैंने अपने हाथों में 100 से ज्यादा मरीजों को मरते देखा है। मोटापे के कारन होने वाले हार्ट अटैक, स्ट्रोक अथवा कैंसर से। उस दिन के बाद मैंने अपने सर्जन की नौकरी पर जाना छोड़ दिया। जब भी मैं कोशिस की मैं मेरे हाथों को कांपने से रोक नहीं पता था। जब भी ऑपरेशन टेबल पर किसी के शरीर को देखता था मुझे मेरा भाई कपिल सामने दीखता था। मैं मानसिक रूप से सर्जरी करने के लिए तैयार नहीं था। फिरभी मेरा दिमाग में ये बात लगातार बानी हुई थी की मोटापे जैसे खतरनाक स्थिति को ठीक करने का कोई तो तरीका ढूँढना होगा और ऐसे हजारों लोगों को बचाना है जो इस खतरनाक स्थिति से जूझ रहे हैं। आखिरकार मैंने अपने मेडिसिन प्रैक्टिसिंग छोड़ने का निश्चय कर लिया और नयी दिल्ली में रिसर्च स्कॉलर बन गया। मैंने अपनी जिंदगी पूरी तरह प्राकृतिक तत्वों की इंसानो में पाए जाने वाले फैट सेल्स पर होने वाले असर के ऊपर अध्ययन पर लगा दिया। मेरा लक्ष्य एक आसान तरीका ढूँढना था जिससे मोटापे से ग्रसित औरतें या मर्द अपनी जिंदगी बचा सकें। पूरी दुनिया में लाखों लोग अपने मोटापे से जूझ रहे हैं जबकि ज्यादातर डाइट को फॉलो करना बहुत हीं मुश्किल होता है। इसके साथ साथ ज्यादातर वेट लॉस प्रोग्राम जो स्पा क्लीनिक द्वारा चलाये जाते हैं उनका खर्च कमसे काम 40000 - 50000 तक होता है और दुःख की बात यह है की उसके परिणाम भी दर्दनिय और निराशाजनक पाए गए हैं। ये मुखयतः जल निर्मित वजन को काम कर देता हैं जो की १ महीने के अंतराल में फिर से वापस आसकता है। इन्ही वजहों से वजन घटाना एक असंभव काम लग सकता है। कपिल के अंतिम संस्कार के बाद मैं सीधा अपने नयी दिल्ली वाले लैब में गया। मैंने अपने आप से एक वादा किया की मैंने अपने बायोलॉजी एक्सपर्ट नॉलेज को पूरी तरह से मोटापे से लड़ने में लगा दूंगा और एक ऐसा उपाय निकलूंगा जिससे बेकार में लोगों की जानें ना जाये। प्रत्येक दिन मैं सुबह 6 बजे उठकर सबसे पहले अपने भाई की तस्वीर देखता और सोचता की मेरे होने का मकसद क्या है। मैंने अपने एक्सपेरिमेंट का केंद्र ऐसे जिद्दी असामान्य फैट पर जोकि मुख्यतः पेट में और निचली कमर पर जमा होते हैं। मुझे यह भी अहसास था की सालों से जमे हुए फैट और वजन में वृद्धि से मेटाबोलिज्म में काफी असर पड़ता है और फैट काम करना काफी मुश्किल हो जाता है। मैं एक प्राकृतिक औसधि बनाना चाहता था जो आर्गेनिक तरीके से फैट को काटता हो और शरीर के मेटाबोलिज्म को मजबूत करता हो।

मैं एक्सपेरिमेंट्स पर एक्सपेरिमेंट्स करता गया, डिसॉल्विंग, फ़िल्टरिंग ,प्रेसिपीटटिंग, क्रिस्टॉलिसिंग और रेक्रिस्टॉलिसिंग फैट सेल्स, इस गुत्थी को सुलझाने में लग गया। पूरा पूरा दिन मैं एक्सपेरिमेंट्स में लगा रहा की किस तरह फैट को बर्न बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के किया जाये। मेेरी एक मात्र प्रेरणा मेरे भाई की एक तस्वीर थी। 2 साल तक शोध करने के बाद भी मेरे हाथों कुछ ठोस नहीं लगा मैं निराश हो चला था। मेरे में ये डर बैठा हुआ था की लाखों लोग और जान गवा देंगे बिलकुल मेरे भाई के तरह अगर मैंने कुछ सलूशन नहीं निकाला। मैंने 100 से ज्यादा असाधारण टॉनिक्स, फंगल स्त्रैंस अथवा जड़ी बूटियाँ टेस्ट की मगर सफलता हाथ नहीं लगी। मेरे पास बस एक अंतिम फल टेस्ट करने के लिए बचा था , अगर ये फल भी सफल नहीं होता तो मैंने रिसर्च छोड़ने का तय कर लिया था। वह आखिरी फल एक स्वादिष्ट अफ्रीकन बेर है जो की कांगो के घने जंगलों में पाया जाता है। मैंने अपने मेडिकल कोर्स के वक़्त इस बेर के बारे में अपने प्रोफेसर से सुना था की किस तरह वहां के लोग इस फल को नियमानुसार इस्तेमाल कर अपनी मेटाबोलिज्म को मजबूत बनाते हैं और शिकार के दौरान ज्यादा ऊर्जा और स्टैमिना पाते हैं। ये एक ऐसे आदिवासी लोगों का समूह था जो कई सौ साल तक सर्वाइव कर पाने में सफल रहा और काफी उन्नत शिकारी कबीला माना जाता है। मुझे ये तो पता था की किसी भी आदिवासी कबीले को इतने लम्बे समय तक सर्वाइव करने के लिए कुछ खास वस्तु सहायक हुई होगी। जब उस फल का शिपमेंट इंडिया पहुंचा मैं थोड़ा डरा हुआ था मगर साथ हीं साथ मैं जनता था की मेरे पास अब हारने क लिए कुछ भी नहीं है। मैंने अपने ओवन में इन फ्रूट्स को सुखाया फिर उसको पाउडर फॉर्म में एक सेलाइन सलूशन में घोल दिया। और इस सेलाइन सलूशन को एक फैट टिश्यू जिसे हमने लैब में बनाया था उसपे दाल दिया, इस आशा में की कुछ तो होगा। अगले सुबह जब मैं अपने लैब में गया तब मैं खुदको तैयार कर के हीं गया था एक नए हार के लिए। जबकि आज कुछ अनोखा और आश्चर्यजनक हुआ , आधे से ज्यादा फैट बिलकुल गल चूका था। मुझे इस्पे भरोषा नहीं हो रहा था। इस साधारण फल ने एक जिद्दी फैट जिसको तोडना नामुमकिन था उसे गला दिया था। मेरे कई सालों के रिसर्च में मैंने ऐसा कुछ नहीं देखा था। अगर हम केमिकल लेवल पर बात करें तो इस फल ने फैट को ऊर्जा में बदल दिया था और मेटाबोलिज्म को बूस्ट कर दिया था , इसी कारन ट्राइबल लोगों की एनर्जी शिकार के समय अत्यधिक रहती थी। उनका फैट एनर्जी के रूप में कन्वर्ट हो रहा था लगभग कुछ हीं पल में। मैं ख़ुशी से उछल पड़ा , यही वो चीज थी जिसे मैं सालों से ढूंढ रहा था। मुझे इतना तो समझ था की अगर मैं यूनिवर्सिटी से ह्यूमन ट्रायल की बात करूँगा तो सालो लग जायेंगे परमिशन मिलने में इसलिए सबसे पहले मैंने इसका प्रयोग गिनी पिग पर किया और फिर अपने आप पर किया। इसके टेस्ट के लिए मैं ज्यादा समय बर्बाद नहीं करना चाहता था इसलिए मैंने खुद इसका इस्तेमाल डेली 1 चम्मच करने लगा इसके रिजल्ट को ट्रैक करना शुरू कर दिया।

एक सप्ताह के इस्तेमाल ने मुझे शॉकड कर दिया , मेरे एनर्जी लेवल में काफी बढ़ोतरी हुई थी और अब मुझे भूख भी कम लगने लगी थी। मैंने अपना वजन चेक किया और देखा मैं अब 5 किलो कम होगया था। मैं इम्प्रेस्सड हुआ मगर पूरी तरह आस्वस्थ नहीं था क्युकी ये भी हो सकता था की मैंने जल का वजन कम किया हो जो एक सामान्य बात है किसी भी डाइट को फॉलो करने में। मैंने अपना एक्सट्रेक्ट इस्तेमाल करना जारी रखा और हर सुबह मैं ज्यादा एनर्जी के साथ उठता था। मैं अब रात को बिच बिच में उठकर इधर उधर भी नहीं होता था क्यूंकि मेरा शरीर अब ज्यादा रिलैक्स कर पा रहा था। (मुझे लगता है शरीर में पाए जाने वाले विषैले तत्त्व की कमी से ऐसा हो रहा था मगर ये मैं कन्फर्म नहीं कर सकता )। अगले वीक में मैंने लगभग 7 किलो और लूज़ कर लिया था। जिससे मैंने लगभग 12kg कम कर लिया था। जब मुझे पूरी तरह भरोषा हो गया की मेरा एक्सट्रेक्ट सच में काम कर रहा है , तब मैंने तय कर लिया की इसे दुनिया के सामने लाऊंगा। अगले कुछ महीने इसके कम्पोजीशन और ब्लेंडिंग को और बेहतर बनाने में लगा दिया और इस एक्सट्रेक्ट को कैप्सूल के फॉर्म में तफ्दील कर दिया जो आज Fat Burner के रूप में जाना जाता है। उसके बाद मैंने अमेरिका के MIT के साइंटिस्ट रिक हेडेन के साथ साझा किया ताकि ये पूरी तरह से सर्टिफाइड हो जाये की ये एक कारगर उपचार है। एक क्लीनिकल ट्रायल के अंतर्गत हमने पूरी दुनिया में 1800 लोगों पर इसका टेस्ट किया जिसके परिणाम स्वरुप 97 % लोगों ने १ महीने के भीतर हीं 15kg तक वजन घटाने की बात मानी। जिन औरतों और पुरुषों पर ये शोध किया गया वह भी अत्यंत चकित थे। वो ज्यादा बेहतर तथा अपने उलटे लिंग के लोगों के तरफ आकर्षण महशुस कर रहे थे। कुछ लोगों के परिवार वाले उन्हें पहचान भी नहीं पा रहे थे। मैं काफी खुश था और सफल महसूस कर रहा था मगर अंदर हीं अंदर ये बात मेरे दिमाग में चल रही थी की मुझे मेरी माँ को वापस पाना है। कपिल के गए हुए 3 साल हो चुके थे और मेरी माँ अब भी मुझसे बात नहीं करती थी। मैंने माँ को कई बार कॉल किया मगर उन्होंने फ़ोन काट दिया , बहुत मुश्किल से मैंने अपने माँ को अपने लैब में बुलाया और उन्हें अपने एक्सपेरिमेंट्स के डाटा को दिखाया, यहाँ तक मैंने एक पेशेंट से भी उनकी मुलाकात करवाई जो उनदिनों हीं दुबली हुई थी। मेरी माँ ने कुछ नहीं बोला, मुझे लगा वो अभी भी गुस्सा हैं , मैंने माफ़ी मांगने लगा मगर उन्होंने मुझे गले से लगा लिया। मुझे माँ के रोने की आवाज मेरे कानो में आरही थी जब उन्होंने मुझे गले लगाया हुआ था। उन्होंने कहाँ उन्हें बहुत गर्व है मुझपर, कोई माँ अपने बेटे को काश मोटापे के कारन ना खो बैठ। मैं भी अपने आप को रोने से रोक नहीं पाया , यह मेरी जिंदगी का सबसे सुन्दर लम्हा था। तबसे मेरे वेट लॉस का उपाय ज्याद से ज्यादा पॉपुलर होता गया। कई नामी गिरामी हॉलीवुड और बॉलीवुड के अभिनेताओं ने Fat Burner के इस्तेमाल से अपना बॉडी फैट लूज़ किया है। मुझे हरेक दिन कई मेल्स और कॉल पुरे दुनिया से थैंक यू बोलने के लिए आते हैं उनकी जिंदगी बचाने के लिए। मेरा उत्पाद एक मात्र प्रक्रित्रिक तरीका है जो सस्ता और गारंटीड वेट लॉस करता है। इसका नाम कई नामी पुब्लिकेशन्स और मेडिकल जर्नल्स में अक्सर आता है।

कैसे यह तरीका फैट को खत्म करता है ?

सुनकर ये अजीब लगेगा और अविश्वश्नीय भी, आइए मैं आपको समझाता हूँ ये काम कैसे करती है। इस फल को एक प्रकार के नेचुरल एंटीऑक्सीडेंट के साथ मिलाकर, Fat Burner कीटो आपके शरीर के मेटाबोलिज्म को बढ़ाता है , साथ में शरीर के विकार को साफ़ करता है और एनर्जी को लगभद 10 गुना तक बढाकर फैट को रातो रात गला देता है। मिलकर ये आपके शरीर के नुकसान दायक विष को जड़ से मिटा देता है और आपके शरीर के कैलोरी बर्न करने की क्षमता को लॉन्ग टर्म के लिए ज्यादा अच्छे तरीके से बर्न करता है। कई रिसर्च से ये साबित हुआ है की मोटापे से ग्रषित महिंलाओं और पुरुषों को अच्छी तन्ख्वाव वाली नौकरी पाने में भी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। साथ हीं साथ अपोजिट सेक्स के लोगों को आकर्षित करना भी मुश्किल होता है। ऐसे लोग डिप्रेशन एंग्जायटी और सेल्फ कॉन्फिडेंस में कमी से भी परेशान होते हैं। आम भाषा में बोला जाये तो मोटापे से परेशान लोग अपने जीवन में कई परिश्थिति से जूझ रहे होते हैं। मगर चिंता ना करें ! सबसे पहला कदम हम अपने मेटाबोलिज्म को ठीक करके करेंगे जो वर्षो से आपके फैट को काटने में असफल रहा है। और यही सबसे बड़ी खासियत है Fat Burner की जो आपके सेल्स को स्ट्रांग करके आपके शरीर में उपलब्ध नुट्रिएंट्स को रेगुलेट करता है। यह आपके मेटाबोलिज्म की गति को बढाकर. पुराने जमे फैट को काटना शुरू करता है और आपको दुबला बनाता है। इसका मतलब वजन बढ़ोत्तरी का उल्टा होना है। !

मैं पूरी तरह से लगा हुआ हूँ की ज्यादा से ज्यादा लोगों तक इसको पहुँचाया जाये, ऐसे लोग जो मोटापे से लड़ाई लड़ रहे है। मैंने इस मैजिकल फ्रूट को एक्सट्रेक्ट कर एक कैप्सूल के फॉर्म में बनाया है जो Fat Burner के नाम से जाना जाता है। मुझे पता है की मैंने सही किया है लाखों लोगों को मोटापे से बचाने में उनकी मदद करके। मगर मुझे यह नहीं पता था की ये उपाय कई डॉक्टर्स को कितना गुस्सा दिलाएगा और ऐसे कम्पनीज को जो लालच में आकर लोगो को ठगने में लगे हुए थे। इसमें को दो राय नहीं है की मेरी सप्लीमेंट उन सभी के नुकसानदायक इंग्लिश दवा से लाखों गुना अच्छी है। मगर इसके बावजूद ऐसे लोग हमारे दवा को बंद करने में पूरी तरह से लगे हुए हैं। Fat Burner ऐसे डॉक्टर्स और कम्पनीज के ऊपर एक जोरदार तमाचा है। ये हर्बल एवं प्राकृतिक तरीका लिपोसक्शन और जहरीले वेट लॉस इंग्लिश सप्लीमेंट से कहीं ज्यादा बेहतर है। इसका सीक्रेट एक प्राकृतिक सत् है। लुप्त होने के कगार पर उस अफ्रीकन बेर के अलावा जंगली कीटो भी इसकी कारगरता का राज है जो वजन घटाने में मददगार है। ये दोनों प्राकृतिक सत् साथ मिलकर ये फैट को बर्न करने का काम आसानी से बिना किसी दुष्प्रभाव के करते हैं। इसका मतलब अब आप अपना वजन गारंटी के साथ कम कर सकते हैं वो भी कुछ हीं दिनों के सेवन से।

आइए Fat Burner का टेस्ट किया जाये ...

हमलोग ये जानना चाहते हैं की क्या ये प्रोडक्ट सही में वो सारी चीजें कर सकता है जो ये क्लेम करता है। Fat Burner क्या सही में इतना इफेक्टिव है जैसा ये क्लेम करता है ? कैसे कोई इंसान 30 दिन के अंदर 12 kgs से ज्यादा घटा सकता है। यह प्रोडक्ट 100 % सटिस्फैक्शन गारंटी के अंतर्गत उपलब्ध है।

जानिए Fat Burner को कैसे इस्तेमाल किया जाता है जिससे अत्यधिक परिणाम प्राप्त हो।

हमलोग भी शुरुआत में थोड़े डरे से थे, जबतक की हमारे रिपोर्टर्स ने खुद इसका इस्तेमाल नहीं किया।इसका इस्तेमाल करना बिलकुल हीं आसान है। जोकि कंपनी के आयुर्वेदिक डॉक्टर्स फ़ोन कंसलटेशन में गाइड करते हैं। इसका इस्तेमाल सुबह और शाम 2 बार गुनगुने पानी के साथ करना होता है। साथ हीं साथ आयुर्वेदा सलाहकार आपको कुछ सरल व्यायाम तथा खाने पिने की आदतों में बदलाव की भी सलाह देते हैं। जिससे Fat Burner का असर काफी बढ़ जाता है और आपको 1 सप्ताह के इस्तेमाल पर हीं पता चलने लगता है। आयुर्वेदा डॉक्टर्स आपको हरेक सप्ताह कॉल करके आपके प्रोग्रेस की रिपोर्ट लेते रहते हैं।

तो मैं तो हर उस शख्स को ये अनोखी Fat Burner गोलियां लेने की सलाह दूँगी जो जो अपने मोटापे से तंग आ चुके हैं।


विशेष: अपना FAT BURNER पाएँ यहाँ

अभी आर्डर करे

खास ऑफर उपलब्ध है यहाँ:



जाने लोगों के अनुभव (20 of 44)

Sunil

मैं उन मोटू लड़कों में से था जो स्कूल में हमेशा बुली होता रहता था। सबलोग कुछ भी नाम देदेते थे कभी भी कहीं भी शर्मिंदा कर देते थे। मुझे मेरे कजिन ने फैट बर्नर के बारे में बताया , इसके इस्तेमाल से मैंने लगभग 26 किलो लूज़ कर लिया और अब मैं अपने दोस्तों में काफी पॉपुलर हूँ।

Kajal

मेरा नाम काजल है और मैं लगभग 87 kgs की थी और मैं लगभाज बॉर्डरलाइन डायबिटिक भी हो चली थी तब मेरी भाभी ने मुझे फैट बर्नर के बारे में बताया सुरु में मुझे इसका कॉस्ट ज्यादा लगा तब मेरी भाभी ने भइआ से बात करके खुद हीं ये ऑनलाइन आर्डर कर दिया , इसकी डिलीवरी मुझे 5 दिनों में मेरे एड्रेस पर होगयी। इसके इस्तेमाल करने के 1 वीक के भीतर हीं मेरा वेट 4 कग्स घट चूका था , अभी मैं इसे पिछले ४ महीने से उसे कर रही हूँ और मेरा वेट लगभग 63 kgs होगया है , अब तो मेरे क्लास के लड़के भी मुझे देखते रहते हैं। मैं बहुत खुश हूँ ये फैट बर्नर कमल की चीज है वाकई।

Aditi Garg

मैं और मेरे पति अपनी शादी शुदा जिंदगी से बहुत दुखी थे और इसकी एक मात्र वजह था मेरा मोटापा , मेरे मोटापे क कारन वो मुझसे आकर्षित नहीं होते थे और इसी कारन हमारा कोई बच्चा भी नहीं हो पाया। मुझे तो सक होने लगा था की कहीं मेरे पति किसी और के साथ चक्कर तो नहीं चला रहे , फिर मेरी दोस्त ऋचा ने मुझे फैट बर्नर के बारे में बताया, इसके इस्तेमाल से काफी कुछ बदल गया और अब मैं बेहतर महसूस कर रही थी और और ज्यादा confident भी हो गयी थी और हम बिस्तर में भी ज्यादा खुश थे। थैंक्स तो फैट बर्नर मेरी पुराणी खुशियां वापस आगयी और ब्लड शुगर लेवल भी कम हो गया है

Kishan Sinha

यह एक राम बाण है। इसके इस्तेमाल से मैंने 120 kgs से 82 kgs तक अपना वजन कम करने में सफल रहा। मैंने इसका विज्ञापन टाइम्स ऑफ़ इंडिया में देखा था , डिलीवरी आसान और जल्द हीं हो गयी थी

Ankita Gupta

हेलो दोस्तों मेरा नाम अंकिता है और मैं पटना बिहार में एक बैंक में काम करती हूँ , दिन भर ऑफिस में काम करने के कारन पिछले कई सालों में मैंने काफी वेट गेन कर लिया था। मेरे सहकर्मी कृष्णा सिंह ने मुझे फैट बर्न की जानकारी दी जो सिंह जी कई महीनो से उसे कर रहे हैं ,मैंने भी इसका इस्तेमाल सुरु किया और लगभग २ महीने इस्तेमाल से मैंने लगभर 10 kg तक वजन घटा लिया। मैं सभी लोग जो अपने बढ़ते वजन से त्रस्त हैं उसको फैट बर्न इस्तेमाल में लाने का सुझाव देना चाहूंगी।

Rajesh Garain

मेरा पेशा ऐसा हैं की उसमे मुझे दिन भर एक जगह बैठे रहना पड़ता हैं , मैं सतना में एक जनरल स्टोर चलता हूँ और दिन भर बैठे रहने के कारन मेरा वजन लगभग आसमान चुने लगा था एक बार ऑनलाइन फेसबुक पर मैंने फैट बर्न के बारे में पढ़ा और मुझे भी इसे इस्तेमाल करने की उत्सुकता हुई और मैंने इसके वेबसाइट से एक बोतल आर्डर कर दी , थोड़ा झिझक रहा था क्यूंकि ए दिन ऑनलाइन काफी फ्रॉड होते रहते हैं इसलिए। फिरभी मेरा आर्डर अगले ४ दिन में डिलीवर हो गया और इसके १ महीने के इस्तेमाल से मेरा वजन लगभर 7 किलो कम हो गया अब मैंने इसका दुबारा आर्डर किया हैं ४ महीने के पैक पर मुझे लगभग ५०% की छूट भी मिल गयी। अच्छी चीज हैं ये और शाकाहारी भी।


अभी आर्डर करे

डिस्क्लेमर: यह एक आयुर्वेदिक हर्बल डाइटरी सप्लीमेंट है। , इसके इस्तेमाल के लिए डॉक्टर की प्रिस्क्रिप्शन की जरुरत नहीं है।

प्रतीक्षा!

खासतौर पर आपके लिए! आज का प्रोमो, Man Boost कीमतों में 50% की छूट प्रदान करता है ।




आदेश देना Man Boost